तो ये है IPL में सट्टा लगाने का सीक्रेट जिसे इस्तेमाल करके आज लोग करोड़पति बन गए हैं! आइये हम भी जानते हैं

तो ये है IPL में सट्टा लगाने का सीक्रेट जिसे इस्तेमाल करके आज लोग करोड़पति बन गए हैं! आइये हम भी जानते हैं

तो ये है IPL में सट्टा लगाने का सीक्रेट जिसे इस्तेमाल करके आज लोग करोड़पति बन गए हैं! आइये हम भी जानते हैं

Image result for IPL MONEY

सभी भाइयो को factbaaz की ओर से सलाम नमस्ते सत स्रियाकल ! ये वीडियो हमारे उन भाइयों के लिए है जो सट्टे की दुनिया में लाखों कमाके अमीर आदमी बनने का सपना दखते हैं! अगर आपने ये सीक्रेट अचे से समझ लिए तो आप सट्टे में कभी नहीं हारोगे! आपमें से कुछ लोग ये ज़रूर सोच रहे होंगे की अगर वाकई में सट्टे से लाखो कमाया जा सकता है तो आधी दुनिआ लखपति हो जाएगी लेकिन दोस्तों ऐसा बिलकुल भी नहीं है! सत्ता लगाना कोई गुड्डा गुडिये का खेल नहीं है, इसमें एक तेज़ और पावरफुल दिमाग का होना बहुत ज़रूरी है !

Image result for IPL SATTA JEETE

आइये हम आपको बताते हैं सत्ता लगाने की कुछ ऐसे सीक्रेट्स जो वाकई में बहुत कारगर हैं! और दोस्तों मेरी मंथली इनकम २ लाख है लेकिन इस आईपीएल के सीजन में मई हर साल लघबघ 5 – 6 लाख का बिज़नेस कर लेता हु. लेकिन मई अपने दोस्तों और विएवेर्स को बहुत पसंद करता हु तो क्यों न आपको भी मई अपने ब्लॉग से फायदा दिलवाऊं ! आइये चलते हैं उन अमेजिंग सीक्रेट्स की तरफ-

सीक्रेट नो.१

क्रिकेट का सट्टा किस तरह खेला जाता है. और उसका का क्या तरीका है इस के बारेमें इस आर्टिकल में हम बात करेंगे. इंडिया में क्रिकेट का सट्टा इलीगल है. खेलने वाले और खिलाने वाले दो नो को जेल हो सकती है. क्रिकेट के सट्टे आम तोर पे कई तरीके से खेला जा सकता है. जिन में से प्रमुख तरिका में या हा पे बता रहा हु Seson का सट्टा : खेले ने वालो के लिए मोत की सीडी जैसा है.इस में मेरा मनना है की भगवान भी अगर आ खेलेगा तो उसके पैसे भी जायेंगे. अगर वो कोई जादू ना करे तो

Image result for IPL SATTA JEETE

IPL मैच में 6 over और का और वनडे मैच में 10 over का Seson होता है. इसमें 6 ओवरों में कितने रन बनेंगे उस पर सट्टा लगता है. उदाहरण के तौर पर : (1) सट्टा खिलाने वाले 6 over में 36 37 बोलते हैं खेलने वाले को 37 होंगे और 36 नहीं होगे ऐसे दो टाइप के सट्टे खेल सकते हैं. अगर आपने 6 over में से 37 (होंगे ऐसा बोला है) तो 6 over में 37 या 37 ऊपर हो गए तो आप को जितने पैसे लगाये उतने मिलेंगे और ३७ हो गां ऐसा बोला और ना हो ने पे जितने पैसे लगाए उतने जायेंगे (2) और आप ने ३६ (नहीं होगा) ऐसा बोला तो, और हो गए ३६ तो जितने पैसे लगाए उतने जायेंगे और ३६ से कम होगा यानि ३५ होगा जितने पैसे लगाए उतने मिलेंगे

Image result for IPL SATTA JEETE

मेरे हिसाब से Seson का सट्टा आप को नहीं खेलना चहिये इस की वजह

बुकी का घर : इस में दो नो में आप के पैसे डूबेंगे या नी की आप ३७ होंगे बोलो गे और ३६ नहीं हो गे बोलो गे तो ६ ओवर में ३६ होते है इस में आप के पैसे डूबेंगे १००% और सेसन खेले तें दौरान एक बार तो बुकी का घर आता ही है.

भाव पे सट्टा : भाव का सट्टा हार जीत पर होता है JO Team मजबूत होती है उस का भाव आता है उदाहरण के तौर पर india 0.80 0.85 अगर आप बोलोगे इंडिया जीतेगी ₹1000 तो आपको मिलेंगे ₹800 और इंडिया हार जाती है तो आपके जाएंगे 1000. अगर आप बोलोगे इंडिया हारेगी तो आपके जाएंगे ₹850 और मिलेंगे 1000 इस तरीके से भाव का सट्टा होता है भाव का सट्टा Sesson के सट्टे से safe है इसमें कहीं बार खेलने वाला जीता है. इसमें कमाने का और Safe होने का चांस मिलता है

Image result for IPL SATTA

लेकिन मेरी मां न तो दोनों ही सट्टा आपको खेलना नहीं चाहिए क्योंकि जो खिलाता है वही Win है यही नियम है सट्टे का क्योंकि एक बार जब कमाते हैं और खेलते ही जाते हैं इसमें आप 10 में से 8 बार गलत होते हैं इसीलिए तो क्रिकेट के Booki इतना रिस्क लेकर खिलाते हैं

र्ल्ड कप क्रिकेट टूर्नामेंट नजदीक है, तो स्वाभाविक है, सट्टा बाजार में भी हलचल तेज होने लगी है। यों तो भारत में चुनाव रिजल्ट से लेकर मौसम तक हर किसी पर सट्‌टा लगता है, पर चूंकि क्रिकेट देश का लोकप्रिय खेल है, इसलिए इसमें सटोरी व पंटर सबसे ज्यादा सक्रिय रहते हैं।

वर्ल्ड कप क्रिकेट टूर्नामेंट नजदीक है, तो स्वाभाविक है, सट्टा बाजार में भी हलचल तेज होने लगी है। यों तो भारत में चुनाव रिजल्ट से लेकर मौसम तक हर किसी पर सट्‌टा लगता है, पर चूंकि क्रिकेट देश का लोकप्रिय खेल है, इसलिए इसमें सटोरी व पंटर सबसे ज्यादा सक्रिय रहते हैं।

शायद बहुत कम लोगों को पता है कि क्रिकेट मैच में दरअसल दो तरह से सट्‌टा लगाया जाता है। एक सट्‌टा तो क्रिकेट में हार या जीत पर लगता है, जबकि दूसरा सट्‌टा मैच में बनने वाला स्कोर पर, चुनिंदा ओवर में कितने रन होंगे या मैच के किसी सेशन में कितने रन होंगे, इन पर लगाया जाता है।

Related image

क्रिकेट मैचों में अमूमन जनरल सट्‌टे को स्वीकारने व लगाने वाले अलग होते हैं, उसी तरह सेशन बैटिंग पर सट्‌टा लेने वाले भी अलग-अलग बुकी होते हैं। पर कुछ पुलिस वालों का मानना है कि कुछ बुकीज दोनों प्रकार के सट्‌टे स्वीकारते हैं।

जनरल सट्‌टा

जनरल सट्‌टा क्या होता है, इसके लिए एक उदाहरण देना चाहूंगा। मसलन यदि भारत व पाकिस्तान के बीच मैच होता है, तो मैच शुरू होने के पहले भारत जीतेगा, इस पर लगने वाला सट्‌टा जनरल बेटिंग में आता है। सट्‌टे की इस श्रेणी में मैच शुरू होने के कुछ देर बात यदि लगता है कि पाकिस्तान जीतेगा, तो यदि कुछ पंटर (सट्‌टा खेलने वाले) पाकिस्तान जीतेगा पर सट्‌टा लगाते हैं, तो वह भी जनरल बेटिंग में ही आता है।

सेशन सट्‌टा

Image result for IPL SATTA

टी–20 मैच में मैच शुरू होने के पूर्व 160 से 170 रन होंगे, पहले दस ओवर में 70 से 75 रन बनेंगे, इस पर लगने वाला सट्‌टा सेशन बेटिंग में आता है। जनरल बेटिंग में शुरुआती लगने वाला सट्‌टा बाद में बदलता भी है। लेकिन सेशन बेटिंग में लगाया सट्‌टा बदला नहीं जा सकता।

भाव खोलने से पहले

क्रिकेट मैच में सट्टा आंख बंद करके नहीं लगाया जाता। बुकीज और पंटर दोनों भाव लगाने व खोलने से पहले यह भी देखते हैं कि मैच किन दो टीमों के बीच खेला जाएगा। यही नहीं मैच किस जगह खेला जाएगा, पिच किस प्रकार की होगी, वहां का तापमान कैसा होगा तथा टीम में कौन-कौन खिलाड़ी होंगे। इसी सब पृष्ठभूमि को जानने के बाद ही किसी मैच में क्रिकेट बेटिंग का भाव तय होता है।

अंडरवर्ल्ड का भाव

Related image

जब इंटरनेट की शुरुआत नहीं हुई थी, सट्‌टे का भाव भारत व दुबई के कुछेक बुकीज तय करते थे। उसमें मुख्य रूप से शोभन कालाचौकी, सुनील दुबई, मंडी दिल्ली, जयंती मालाड, विनोद चेंबूर का समावेश था। पुराने समय के क्रिकेट बुकीज बताते हैं कि दुबई में दाऊद गैंग जब सक्रिय था, उस समय क्रिकेट बेटिंग का भाव उनकी तरफ से खोला जाता था। लेकिन अब जब वक्त बदल गया है, और इंटरनेट का युग आ गया है, तो www.betfare.com वेबसाइट के जरिए विश्व भर के बुकीज और पंटर दोनों को मैच का भाव पता चला जाता है। विश्व भर में कहीं भी, किसी भी देश में क्रिकेट मैच खेला जा रहा हो, ऐसा होगा ही नहीं कि उसमें भारत के बुकीज व पंटर सक्रिय न दिखें।

फिक्सिंग से अलग है सट्‌टेबाजी

कई लोगों को लगता है कि सट्‌टेबाजी का मैच फिक्सिंग से गहरा ताल्लुक होता है, हालांकि सच यह है कि सट्‌टेबाजी व फिक्सिंग दो अलग-अलग मुद्दे हैं। दुखद यह है कि भारतीय कानून में मैच फिक्सिंग व स्पॉट फिक्सिंग की विस्तार से अलग-अलग व्याख्या भी नहीं की गई है। लेकिन इतना ज्ञान अब सबको है कि जब किसी मैच का परिणाम पुनर्नियोजित होता है, मतलब होने वाले किसी मैच में किसी चुनिंदा टीम का हारना जब पहले से तय होता है, तो उसे मैच फिक्सिंग कहा जाता है। यह मैच अकेले फिक्स नहीं किया जा सकता, इसके लिए मैदान पर मौजूद दोनों टीम के खिलाड़ियों और कप्तान दोनों को इसको फिक्स करना पड़ता है। इसके लिए खिलाड़ियों व कप्तान दोनों को बुकीज की तरफ से बाकायदा रुपयों का लालच दिया जाता है। कई बार तो अडवांस में रकम उनके घरों या होटेलों में पहुंचा दी जाती है।

Image result for IPL MONEY

स्पॉट फिक्सिंग

मैच फिक्सिंग जैसे ही एक और फिक्सिंग भी होती है। इसे बोलते हैं स्पॉट फिक्सिंग। इसमें किसी खिलाड़ी को व्यक्तिगत लाभ व लालच देकर उसे खेलने वाले मैच में तय काम करने को मजबूर किया जाता है। उदाहरण के तौर पर जैसे एक ओवर में दस से ज्यादा रन देना, नो बॉल, वाइड बॉल डालना, तय रन न बनाते हुए आउट होना। यह सब स्पॉट फिक्सिंग के रूप में जाना जाता है। सन 2013 के आईपीएल सीजन-6 में दिल्ली पुलिस ने राजस्थान रॉयल के कुछ खिलाड़ियों को स्पॉट फिक्सिंग के अंतर्गत ही गिरफ्तार किया था। उसमें कुछ नामी खिलाड़ियों ने बुकीज से पैसे लेकर तयशुदा ओवर में 12 रन से अधिक तक दिए थे। सन 2010 में पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच हुए मैच में पाकिस्तानी खिलाड़ी मोहम्मद आसिफ व मोहम्मद आमिर ने नो बॉल डालने के लिए बुकी से पैसे लिए थे। सन 2010 का यह केस भी स्पॉट फिक्सिंग में ही आया था। इस मामले में पाकिस्तान के आरोपी खिलाड़ियों पर बैन भी लगा था। भारत में फिक्सिंग के आरोप में पहला बैन तब लगा था, जब सन 2000 में सीबीआई ने अजहरुद्दीन, अजय जडेजा सहित कुछ खिलाड़ियों पर क्रिकेट बुकीज से संबंध रखने का आरोप लगाया था। उसी दौरान दक्षिण अफ्रीका के तब के कप्तान हेंसी क्रोनिए का नाम भी मैच फिक्सिंग में सुर्खियों में आया था। बाद में उनकी विमान दुर्घटना में मौत हो गई थी।

सट्‌टा कैसे लगता है?

अब यहां सवाल उठता है कि किसी क्रिकेट मैच में सट्‌टा लगता कैसे है। इसे समझने के लिए भारत-पाकिस्तान के किसी टी-20 मैच को उदाहरण के तौर पर लिया जा सकता है।

मैच शुरू होने के पूर्व : भारत का भाव 60/62 (भारत फेवरेट)। यदि पंटर ने एक लाख रुपये भारत की जीत पर लगाए हैं तो उसे 60 हजार मिलेंगे। जो पंटर 1 लाख रुपये का सट्‌टा लगाता है तो वह बुकी को फोन करके एक पेटी 60 में लगाया, ऐसा कहता है। जवाब में बुकी उसे एक पेटी 60 में खाया, इस प्रकार के शब्दों का प्रयोग करता है। यदि उस मैच में भारत जीत जाता है तो पंटर को 60 हजार रुपये मिलेंगे, लेकिन यदि भारत हार जाता है तो पंटर को 1 लाख रुपये देने पड़ेंगे। 60/62 का भाव होने पर यदि कोई पंटर भारत के फेवरिट रहने पर भी पाकिस्तान पर 1 लाख रुपये का सट्टा लगाता है तो पंटर 62 में 1 पेटी खाया व बुकी तेरा 62 में 1 पेटी लगाया, के शब्दों का प्रयोग करता है। यदि उस मैच में पाकिस्तान जीता तो पंटर को एक लाख रुपये मिलेंगे व पाकिस्तान हार जाता है तो उसे केवल 62 हजार रुपये बुकी को देने पड़ेंगे।

Image result for IPL MONEY

मैच शुरू होने के बाद: मैच शुरू होने के बाद यदि भारत बैटिंग करता है और पहले 5 ओवर में भारत के 4 खिलाड़ी आउट हो जाते हैं, उस वक्त पाकिस्तान बुकीज के फेवरिट हो जाते हैं। कौन सी टीम फेवरेट है यह वेबसाइट पर भी पता चल जाता है।

जिस वक्त पाकिस्तान फेवरिट रहती है उस वक्त सट्टा लगाने की की जानकारी

सामान्य परिस्थितियों में- 5 ओवर में भारत 4 विकेट पर 30 रन। पाकिस्तान फेवरेट और भाव 40/42

ऐसे वक्त में यदि किसी नए पंटर ने पहली बार सट्‌टा लगाया व उसने पाकिस्तान के जीतने पर एक लाख रुपये लगाए (40 में एक पेटी लगाया) तो उसे 40 हजार रुपये मिलेंगे। यदि पंटर ने पाकिस्तान फेवरिट रहने पर भी भारत के जीतने पर पर एक लाख रुपये लगाए (42 में एक पेटी खाया) तो उसे एक लाख रुपये मिलेंगे, लेकिन उक्त सौदे में यदि भारत हार जाता है तो पंटर को केवल 42 हजार रुपये बुकी को देने पड़ेंगे। उक्त पहले उदाहरण के हिसाब से पुराने पंटर ने जिसने भारत के फेवरिट रहने पर भाव 60/62 होने पर एक लाख रुपये भारत की जीत पर लगाया था, उसे 5 ओवर के बाद पाकिस्तान फेवरिट होने पर 40/42 का भाव होने पर नुकसान की भरपाई करने के लिए नीचे दिए सट्‌टे के हिसाब से अपना समीकरण बदलना पड़ेगा।

सामान्य स्थितियों में- 5 ओवर में भारत 4 विकेट पर 30 रन। पाकिस्तान फेवरिट। भाव 40/42। उक्त समय नुकसान की भरपाई के लिए पाकिस्तान फेवरिट होने पर यदि पुराने पंटर ने 5 लाख रुपये 40 के भाव में पाकिस्तान की जीत पर लगाए और पाकिस्तान जीत जाता है तो एक लाख रुपये उसे मिलेंगे। लेकिन यदि भारत जीत जाता है तो उसे 4 लाख 40 हजार रुपये बुकी को देने पड़ेंगे।

Zain

leave a comment

Create Account



Log In Your Account